प्यार का हो जाना किसी जीत से कम नही होता

मैंने लगाये पूछने में २ साल
उसने लगाये बताने में २ दिन
फास्ट ट्रैक में चला अपना केस
मै हार गया
वो जीत गया
अन्तर बस इतना था
उसने दिमाग और मैंने सुनी थी
दिल की बात
पर मै हार कर भी जीत गया
प्यार का हो जाना किसी जीत से कम नही होता

5 comments:

हिमांशु said...

"प्यार का हो जाना किसी जीत से कम नही होता"
एकदम सच्ची बात.
अच्छी रचना .

seema gupta said...

पर मै हार कर भी जीत गया
प्यार का हो जाना किसी जीत से कम नही होता

"great thoughts and truth of life.."

Regards

ताऊ रामपुरिया said...

भाई आज तक ये फ़ैसला नही हो पाया कि दिल की मानो या दिमाग की ! पर सब अपनी मर्जी से ही चलते हैं ! और अच्छा भी है !

आपकी लाईनो मे जीवन की तस्वीर दिखाई देती है !

राम राम !

डॉ .अनुराग said...

वाकई प्यार हो जाना जीत से कम नही है.......

राज भाटिय़ा said...

प्यार का हो जाना किसी जीत से कम नही होता बिलकुल सही कहा आप ने , इस हार मै ही जीत है.
धन्यवाद